डॉक्टर, स्मगलर और देश की सीमा


रामलुभाया ने मुझसे कहा कि वह अपने बेटे को डॉक्टर बनाना चाहता है, मैं उसकी कुछ मदद कर दूँ।
मैं कुछ घबरा-सा गया। डॉक्टरी की पढ़ाई बहुत महँगी है जाने उसमें कितना खर्च होता है और यह मुझसे कह रहा है कि मैं उसकी मदद कर दूँ। मेरी तो अपनी ही हालत इन दिनों काफी खराब है।..और अब यह रामलुभाया मदद माँगने आ गया है। अगर इसी तरह मेरे सारे परिचित लोग अपने बच्चे को पढ़ाने और उनकी शादियों के लिए मदद माँगने आ गये,तो मेरा क्या होगा ?
पढना जारी रखे